sher aya sher aya - hindi kahani , bachcha , gay aur sher ki kahani
Sher aaya Sher -Hindi Kahani

शेर आया , शेर आया  - कहानी | Sher aaya- Sher aaya - Hindi Story

एक समय की बात है एक छोटे से गाँव में एक लड़का रहता था | उसके और उसके परिवार वालों की आजीविका का एकमात्र साधन गाय थीं | वह अपनी गायों को लेकर जंगल चराने जाया करता था और लड़का बहुत ही शरारती था | वह अक्सर अपने दोस्तों और गाँव वालों के सांथ शरारत करता रहता था | उसकी शरारतों से गाँव वाले बहुत परेशान रहते थे |

प्रतिदिन की भान्ति एक दिन लड़का अपनी गाय चराने जंगल गया | जिस स्थान पर वह गाय चरा रहा था वह स्थान गाँव से ज्यादा दूर नहीं था | लड़का जंगल में बैठा-बैठा बोर हो रहा था तभी उसे एक शरारत सूझी , वह एक ऊँचे से पेड़ पर चढ़ गया और गाँव की तरफ मुंह करके जोर-जोर से चिल्लाने लगा - " शेर आया , शेर आया, बचाओ-बचाओ , शेर मेरी गायों को खा जायेगा | शेर आया शेर आया बचाओ |"

लड़के की आवाज गाँव वालों तक पहुंची | गाँव वालों को लगा सचमुच शेर आ गया है और लड़के और उसकी गायों को खा जायेगा इसीलिए जिसे जो हथियार मिला उसे लेकर जंगल की तरफ भागा |

जैसे ही गाँव वाले जंगल पहुंचे उन्हें शेर कहीं नहीं दिखा | गाँव वालों को इस तरह परेशान होकर जंगल आया देखकर लड़का जोर जोर से हंसने लगा | गाँव वालों ने लड़के के हँसने का कारण पूछा |

लड़का हँसते हँसते बोला- " यहाँ कोई शेर नहीं आया था , मैं तो बस अकेला बोर हो रहा था इसीलिए शेर आया-शेर आया चिल्लाने लगा था |"

गाँव वाले लड़के की इस हरकत से बहुत परेशान हुए और उसे बुरा-भला कहकर गाँव वापस चले गए | लड़का प्रतिदिन की भान्ति रोज जंगल जाता एक दिन फिर उसे शरारत सूझी और ऊँचे पेड़ पर चड़कर जोर-जोर से चिल्लाने लगा - " बचाओ-बचाओ शेर आया ,शेर आया | कोई तो बचाओ शेर से , ये मेरी गायों को खा जायेगा |"

इस बार भी गाँव वालों लड़के की बात पर विश्वास कर हथियार लेकर जंगल की तरफ भागे जैसे ही जंगल पहुँचते है वहां उन्हें कोई शेर नहीं मिला | गाँव वाले पिछली वार की तरह इस बार भी लड़के को बुरा-भला कहकर वापस आ जाते हैं |

अब लड़के की आदत बन कई और वह अक्सर " शेर आया -शेर आया " कहकर चिल्लाता और लोगों को परेशान करता | धीरे-धीरे लोग लड़के की आदत समझ गए और उन्होंने लड़के के " शेर आया-शेर आया" चिल्लाने पर जंगल जाना छोड़ दिया |


एक दिन लड़का अपनी गाय चारा रहा था अचानक जंगल में शेर आ गया | शेर को देखकर लड़का ऊँचे पेड़ पर चढ़ गया और जोर-जोर से चिल्लाने लगा - " बचाओ-बचाओ ,शेर आया शेर आया , शेर मेरी गाय खा जायेगा बचाओ |"
sher aya sher aya - hindi kahani , bachcha , gay aur sher ki kahani
Sher aaya Sher aya-Hindi Kahani

गाँव वालो ने लड़के की आवाज सुनी पर सब यही समझे की हमेशा की तरह लड़का गाँव वालों को परेशान करने के लिए यह सब कह रहा है और उसे बचाने कोई भी नहीं गया | शेर लड़के की कुछ गाय मारकर खा गया और कुछ को घसीटकर अपने सांथ ले गया | लड़का ऊँचे पेड़ पर चढ़ा था इसीलिए उसकी जान बच गई |

शेर के जाने के बाद लड़का डरते हुए पेड़ से उतरा और अपने गाँव जाकर सभी को घटना की जानकारी दी | सभी ने लड़के से कहा कि यह उसी की गलती का नतीजा है , अगर लड़का लोगों को परेशान करने के लिए बार-बार झूंठ ना बोलता तो वो उसकी बात पर यकीन कर उसे बचाने जरुर आते और उसकी गायों की जान भी बच जाती |

लड़का भी अपनी गलती पर बहुत पछता रहा था क्यूंकि उसकी गलती से उसकी गायें मारी गईं | वह अपनी गायों को वह बहुत प्यार करता था और इन्ही गायों से उसकी जीविका भी चलती थी |

शिक्षा - " शेर आया कहानी से हमें शिक्षा मिलती है कि कभी भी झूंठ नहीं बोलना चाहिए , झूंठ बोलने वालों पर कोई विश्वास नहीं करता और मुसीबत के समय कोई सांथ नहीं देता |"