खरगोश,शेर और आसमान गिरने की कहानी हिंदी | Sky fall Rabbit Tigher story hindi kahani

khargosh aur asmaan gira  hindi kahani panchtantra

खरगोश, शेर और आसमान गिरने की कहानी हिंदी | Sky fall Rabbit Tigher story  hindi -

एक खरगोश था वह  बहुत ही डरपोक था | वो एक जंगल में रहता था | उसे हमेशा डर लगा रहता था कि कहीं  आसमान ना गिर जाये |इसीलिये वह कभी अच्छे से सो भी नहीं  पाता था |
एक दिन खरगोशएक आम के पेड़ के नीचे सो रहा था , तभी एक आम खरोगश के पास  आकर गिरा | खरगोश डर के कारण अचानक उठा और उसे लगा की आसमान गिर रहा है |
खरगोश डर के कारण भागने लगा और चिल्लाने लगा ''भागो-भागो आसमान गिर रहा है ''|
रास्ते में उसे एक हिरण  मिला | हिरणने खरगोश से पूछा -''अरे खरगोश तुम इतनी तेजी से किधर भागे जा रहे हो ? ''
खरगोश ने कहा -'' अरे हिरन क्या तुम्हे पता नहीं , आसमान गिर रहा है मैं अपनी जान बचाकर भाग रहा हूँ, अगर तुम भी अपनी जान बचाना चाहते हो तो मेरे सांथ भागो ''
डर के कारण हिरन भी खरगोश के सांथ भागने लगा |
भागते-भागते उन्हें रास्ते में भेड़िया मिला | भेड़िया बोला अरे खरगोश और हिरण तुम दोनों इतने तेजी से किधर भागे जा रहे हो |
हिरन बोला - ''अरे क्या तुम्हे पता नहीं , आसमान गिर गया , अगर अपनी जान बचाना चाहते हो तो तुम भी हमारे सांथ भागो ''
भेड़िया भी डर के कारण उनके सांथ भागने लगा |  भागते भागते तीनो जोर जोर से चिल्ला रहे थे | उनकी बातें सुनकर जंगल के दुसरे जानवर जैसे लोमड़ी , सियार, सुअर आदी भी उनके सांथ डर के कारण भागने लगे | भागते भागते सभी शेर की गुफा के सामनेगुजरे  | शेर उस समय अपनी गुफा में आराम कर रहा था | उनकी आवाज सुनकर शेर की नींद खुल गई और गुस्से में शेर ने सभी जानवरों को अपने पास बुलाकर सारा माजरा पूछा | जानवरों ने कहा '' महाराज आसमान गिर गया है इसीलिये हम अपनी जान बचाकर भाग रहे हैं ''|
शेर को जानवरों की बात सुनकर बहुत हंसी आई | फिर शेर ने  भेड़िया से पूछा  -'' क्या तुमने आसमान गिरते   देखा है ''?
भेड़िया बोला -'' नहीं महाराज मैंने तो नहीं देखा , मुझे तो इस  हिरण ने बतलाया है  "
शेर ने हिरण से पूछा  -'' हिरण , क्या तुमने आसमान गिरते   देखा है ? ''

हिरण बोला -'' महाराज,  मुझे तो खरगोश ने बतलाया था "
शेर ने खरगोश से पूछा  -''खरगोश ,  क्या तुमने आसमान गिरते   देखा है ? ''
खरगोश बोला -'' महाराज जिस जगह में सो रहा था वहां आसमान गिरा है'' |
शेर बोला -''चलो मुझे वह जगह दिखलाओ और बाकि जानवर भी मेरे सांथ चलो ''|
सभी जानवर शेर और खरगोश के सांथ उस आम के पेड़ के पास पहुंचे और उधर आसमान  परन्तु वहां कोई आसमान नहीं गिरा था | शेर ने देखा वहां तो एक आम का फल गिरा पड़ा था | शेर ने खरगोश से पूछा-''क्या यही आसमान है जो तुम्हारे  पास गिरा था ? ''
शेर ने सभी जानवरों को कहा की जब तक अपनी आँखों से ना देख लो किसी की बातों पर विश्वास नहीं करना चाहिये |
यह देख कर खरगोश तो शर्मिंदा हुआ ही वाकी के सभी जानवर भी बहुत शर्मिंदा हुये |
शिक्षा - इस कहानी से यह शिक्षा मिलती है की  कभी भी सुनी सुनाई बातों पर विश्वास नहीं करना चाहिये |






0 Comments: